दलाल स्‍ट्रीट: सितारे ज्‍यादा पॉजिटिव नहीं PDF Print E-mail
खास फीचर ( Khash Feature )
Written by संगीता पुरी   
सोमवार, 17 जनवरी 2011 06:01


sangita-puriशेयर बाजार के लिए पिछले सप्‍ताह 10 जनवरी के बाद मैने अपने लेख में लिखा था कि आने वाले दिनों में शेयर बाजार में इतनी बडी गिरावट के अब कोई संकेत नहीं मिल रहे हैं, जैसा पिछले तीन चार दिनों के अंदर ही देखने को मिला। लेकिन शेयर बाजार आने वाले सप्‍ताह में भी कई उतार चढाव के दौर से गुजरेगा, यह स्‍पष्‍टत: कहा था। ‘गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष’ की भविष्‍यवाणी के अनुरूप ही 12 जनवरी को मेटल सैक्‍टर में बढत रही, बैंकिंग सैक्‍टर के शेयरों में कमजोरी के बने होने से लगभग सभी सैक्‍टर प्रभावित हुए और इस सप्‍ताह का अंत बहुत गडबड बना रहा।

महंगाई बढ़ने की वजह से ब्याज दरें बढ़ने का डर बाज़ार पर हावी होने से भारतीय शेयर बाजार में तेज गिरावट रही और सेंसेक्‍स बहुत ही नीचले स्‍तर पर पहुंच गया।  यहां तक कि निफ्टी ने हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन पिछले साल 26 नवंबर के निचले स्तर 5690 को भी तोड़ दिया। विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने जमकर बिकवाली की, वहीं घरेलू संस्थागत निवेशक (डीआईआई) पूरे हफ्ते खरीदार बने रहे।

जानकारों का मानना है कि महंगाई पर लगाम लगाने के लिए आरबीआई उधारी व जमा ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकता है, जिससे कुछ सैक्‍टर की कंपनियों की आय पर भारी विपरीत प्रभाव पडऩे की आशंका है। पेट्रोल के मूल्‍य में बढोत्तरी का प्रभाव भी बाजार पर पडेगा। इसके अतिरिक्‍त एफआईआई की ओर से आवक में भारी कमजोरी और महंगाई में कमी होने के कोई संकेत नहीं मिलने से बाजार में अनिश्चितता बरकरार है।

जहां तक ‘गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष’ का आकलन है, बाजार अब अनिश्चितता से उबरने ही वाला है। अधिक से अधिक 17 और 18 जनवरी को शेयर बाजार में उतार चढाव का दौर बना रह सकता है। हालांकि इन दिनों में भी शुरूआत की तुलना में अंत में बाजार में मजबूती देखने को मिलेगी। 19 जनवरी से बाजार में बढत की ही संभावना दिखती है और यह सप्‍ताह के अंत तक बना रहेगी लेकिन मुनाफावसूली का दौर भी अगले सप्‍ताह चलता ही रहेगा, इसलिए बाजार में सावधानी से ही बने रहें।

संपर्क: This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it
 

टिप्पणी जोड़ें


Security code
Refresh